Ads

Bhut Jolokia - दुनिया की सबसे तीखी मिर्च पहली बार भारत से लंदन एक्सपोर्ट की गई

Bhut Jolokia


किंग चिली या भूत जोलकिया कही जाने वाली दुनिया की सबसे तीखी मिर्च पहली बार लंदन को निर्यात  ( Export )की  जा रही है। 

The world's hottest chili, called King Chili or Bhoot Jolkia, is being exported to London for the first time.

नगालैंड ( Nagaland ) की 'किंग चिली' या भूत जोलकिया ( Bhut Jolokia ) दुनिया की सबसे तिकी मिर्च कही जाने वाली पहली बार लंदन को एक्सपोर्ट हुयी है। इसकी पहली प्रेषित आज लंदन पहुंच चुकी है। यह दुनिया की सबसे तीखी मिर्च के नाम से जाती है। 

मंत्रालय के तरफ से यह जानकारी दी गयी है कि। राजा मिर्चा (Raja Mircha) की पहली एक्सपोर्ट, जिसे किंग चिली या भूत जोलकिया (Bhoot Jolokia) भी कहा जाता है, नगालैंड से आज लंदन पहुंच गयी है। यह निर्यात खेप गुवाहाटी होते हुए पहली बार लंदन को भेजी गई है। 


पीएम मोदी ( PM Modi ) की खुशी में ट्वीट किया 

पीएम नरेंद्र मोदी ने शानदार ट्वीट कर इस तरह अपनी खुशी जाहिर की. पीएम ने लिखा, 'शानदार खबर! जिन लोगों ने भूत जोलकिया को खाया है, केवल वही जान सकते हैं कि यह कितना तीखा होता है'। 

इसे  Scoville हीट यूनिट (SHUs) के अनुसार भूत जोलोकिया को दुनिया की सबसे तीखी मिर्च का दर्जा दिया है।  लंदन भेजे जाने वाली मिर्च की खेप को नगालैंड के पेरेन जिले के तेनिंग इलाके से मंगाई गई थी, और इसे पैक करने का काम गुवाहाटी में प्रसंस्कृत खाद्य निर्यात विकास प्राध‍िकरण (APEDA) और कृष‍ि के सहयोग वाले पैकहाउस में किया गया। नगालैंड की इस मशहूर और बेहद तीखी मिर्च को भूत जोलकिया या घोस्ट पेपर ( Ghost Paper ) के नाम से भी जाना जाता है। इसे साल 2008 में इसे जीआई सर्टिफिकेशन भी मिला था। 


उत्साहजनक नतीजे सामने आये 

 APEDA ने नगालैंड स्टेट एग्रीकल्चरल मार्केटिंग बोर्ड 'Nagaland state agriculture marketing board' (NSAMB) के सहयोग से ताजा किंग चिली की पहली खेप निर्यात खेप तैयार की गयी। दोनों संस्थाओं के समन्वय में जून और जुलाई 2021 में इस मिर्च के सेम्पल को भेजा गया और इसके नतीजे उत्साहजनक रूप से सामने आये। क्योंकि इन्हें पूर्ण रूप से ऑर्गनिक ( Organic ) तरीके से तैयार किया गया था। 

लेकिन ध्यान देने वाली बात यह है कि, यह मिर्च जल्दी खराब होने वाली प्रकृति में अति है, इसलिए इसे निर्यात के रूप में खेप भेजना एक चुनौती भरा कार्य था। किंग चिली Solanaceae परिवार के जींस कैप्सिकम प्रजाति से जुड़ी है। इसके पहले इसी साल APEDA ने कटहल को त्रिपुरा से लंदन, जर्मनी को निर्यात किया था , साथ ही असम से लंदन नींबू को, लाल चावल को असम से अमेरिका और 'बर्मी अंगूर' Leteku को दुबई को निर्यात किया गया था। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ